Vastu Tips: घर में इन चीजों के होने से बिगड़ जाएगा आपका भाग्य, जानिए क्या कहता है वास्तु शास्त्र

घर में ऐसी कई चीज होती है जिन पर हमारा ध्यान नहीं जाता। लेकिन यह चीज आपको और आपके घर को नुकसान पहुंचा सकती हैं।
Vastu Tips for Vastu Dosh
Vastu Tips for Vastu Doshwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क 17 February 2024: हम अपने घर परिवार को सुखी रखना के लिए खूब मेहनत करते हैं। लेकिन इतनी कड़ी मेहनत करने के बाद भी अगर आपके जीवन में असफलता ही आ रही है और आपके काम बिगड़ते ही जा रहे हैं। तो आपको अपने घर के वास्तु दोष की ओर देखना चाहिए।

वस्तु दोष है असफलता का कारण

अगर हमारा वास्तु दोष अच्छा नहीं होगा तो हमें जीवन में सफलता नहीं मिलेगी। और कई सारी परेशानियां भी झेलनी पड़ेगी। इसीलिए हमें अपने वासु दोस्त पर हमेशा नजर बनाए रखनी चाहिए। हमारे घर में भी ऐसी कई सारी चीज होती हैं। जो वास्तु दोष उत्पन्न करती हैं। जिन्हें घर में बिल्कुल भी नहीं रखना चाहिए।

भूलकर भी घर में ना रखें ऐसी चीजें

हमें घर में कभी भी गंदे और फटे कपड़े नहीं रखना चाहिए। क्योंकि कपड़े हमारे शरीर को अच्छा दिखाने का काम करते हैं। लेकिन जब वह पुराने और फट जाते हैं तो उनमें नकारात्मक ऊर्जा आ जाती है। वास्तु शास्त्र के अनुसार फटे और गंदे कपड़े पहनने से व्यक्ति की शारीरिक क्षमता व सकारात्मक ऊर्जा का नाश होता हैं। वास्तु में इन्हें दुर्भाग्य की निशानी माना गया है।

हमें घर में कभी भी फटे जूते चप्पल नहीं रखना चाहिए। हमेशा आपको साफ सुथरे ही जूते चप्पल पहनना चाहिए। और हमेशा कोशिश करें कि जूते चप्पल को एक साइड रखें। क्योंकि घर में बिखरे हुए जूते चप्पल से दरिद्रता आती है।

टूटा सामान वह टूटा बर्तन भी घर में नहीं रखा जाता है। क्योंकि टूटे हुए बर्तन में खाना खाने से आपका भाग्य दुर्भाग्य में बदल जाता है। और उसकी आर्थिक स्थिति काफी खराब हो जाती है। यहां तक की कर्ज लेने की नौबत भी आ जाती है। इसीलिए किसी को भी टूटे हुए बर्तन में खाना नहीं दिया जाता।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.