Vastu Tips: कर्ज से मुक्ति पाने के लिए अपनाएं वास्तु के ये उपाय

कर्ज से छुटकारा पाने के लिए लोगों को वास्तु शास्त्र की कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।
vastu tips
vastu tipsraftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क।28 March 2028। कर्ज लेना और देना दोनों के ऊपर वास्तु शास्त्र में कुछ नियम बताए गए हैं। वहीं, अगर आप कर्ज से मुक्ति नहीं पा रहे हैं तब इन उपायों का इस्तेमाल करके आप इनसे अपना कर्जा उतार सकते हैं।

शीशे से उतारे कर्जा

घर या दुकान में उत्तर-पूर्व दिशा में शीशा लगाना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति का कर्ज जल्द ही उतर सकता है। इसके अलावा अगर आप अपना कर्ज उतार रहे हैं तो इसके लिए आपको मंगलवार का दिन चुनना चाहिए। क्योंकि कर्ज चुकाने के लिए मंगलवार को सबसे अच्छा दिन माना जाता है।

झाडू के इस उपाय उतारे कर्जा

झाड़ू को कभी भी खड़ी नहीं रखनी चाहिए। कहते हैं कि झाड़ू मैं माता लक्ष्मी की कृपा होती है इसीलिए झाड़ू की पूजा भी की जाती है। झाड़ू को खड़ी रखने से घर में आपके ऊपर कर्ज बढ़ता है।

तिजोरी का उपाय से उतारे कर्जा

कर्ज से छुटकारा पाने के लिए तिजोरी को सही दिशा में रखना चाहिए। इस बात का ध्यान रखें कि आपके घर या दुकान की तिजोरी हमेशा उत्तर दिशा की तरफ हो। तिजोरी रखने के लिए घर का दक्षिण-पश्चिम कोना भी अच्छा माना गया है।

तुलसी का उपाय से उतारे कर्जा

प्रतिदिन तुलसी के नीचे घी का दीपक जलाना चाहिए। और तुलसी को जल भी चढ़ाना चाहिए ऐसा करने से कर्ज जल्दी उतर जाता है।

बाथरूम का उपाय से उतारे कर्जा

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर का बाथरूम भी सही दिशा में होना बहुत जरूरी है।घर का बाथरूम कभी भी दक्षिण-पश्चिम दिशा में नहीं होना चाहिए इस दिशा में बाथरूम होने से मनुष्य पर बड़ा कर्जा हो जाता है।

किचन के उपाय से उतारे कर्जा

वास्तु शास्त्र के अनुसार, खाना खाने के तुरंत बाद झूठे बर्तन साफ कर देना चाहिए। झूठे बर्तन किचन में छोड़ने से व्यक्ति के ऊपर कर्ज बढ़ जाता है।

किचन में अगर नल से पानी टपकता हो तो उसे जल्द ही सही करवा ले क्योंकि नल से पानी टपकने से आर्थिक तंगी होती है और आपको कर्ज लेने जैसी परिस्थिति का सामना करना पड़ता है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.