Vastu Tips: चावल बनाएगा आपको मालामाल, जानिए क्या कहता है वास्तु शास्त्र?

वास्तु शास्त्र के अनुसार चावल बहुत ही उपयोगी साबित होता है। चावल के कुछ उपायों से आप अपनी आर्थिक तंगी को भी खत्म कर सकते हैं।
Vastu Tips of Rice
Vastu Tips of Ricewww.raftaaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क।2 March 2024। हिंदू धर्म में चावल को बहुत शुभ माना जाता है हर शुभ कार्य में चावल यानी अक्षत का उपयोग होता है। फिर वह पूजा घर हो या या फिर कोई शादी विवाह। लेकिन क्या आपको पता है वास्तु शास्त्र के अनुसार यही चावल आपका भाग्य भी बदल सकता है।

जानिए चावल से जुड़ा उपाय

भगवान भोलेनाथ के शिवलिंग पर रुद्राभिषेक करते समय उन्हें चावल चढ़ने पर वह बेहद प्रसन्न होते हैं और आपकी मनोकामनाएं जल्दी पूरी करते हैं। इसीलिए जब शिवलिंग की पूजा की जाती है तो हमेशा जल में अक्षत चढ़ाया जाता है।

अगर आप के घर में वास्तु दोष है, तो हर एक सदस्य की तरक्की, आर्थिक स्थिति में किसी न किसी तरह की समस्या आती रहेगी। इस समस्या से निजात पाने के लिए घर के मुखय द्वारा में स्वास्तिक का चिन्ह बनाएं। इसके बाद रोजाना चावल और जल चढ़ाएं। ऐसा करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ेगा ।

अगर आपके पास पैसा आता है लेकिन रुकता नहीं है तो 7 साबुत चावल के दानों को लाल कपड़े में लपेटकर अपने पर्स में रखें। इस प्रकार, पैसा आपके पास रहता है। रोज सुबह उठकर तालाब में एक मुट्ठी चावल डालें, इसके बाद अपने इष्टदेव का ध्यान करें और अपनी समस्याओं को दूर करने के लिए प्रार्थना करें। इससे आपकी सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी।

आपको कभी भी एकादशी के दिन चावल नहीं खाना चाहिए। ऐसा करने से भगवान आपसे नाराज होते हैं और घर से लक्ष्मी भी रूठ जाती हैं।

अगर आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश है और आपके घर में आर्थिक तंगी की भी दिक्कत चल रही है। तब आप को शुक्रवार के दिन 21 पीले चावल लें और एक लाल रंग के कपड़े में बांधकर पोटली बना लें। इसके बाद मां लक्ष्मी को ये पोटली अर्पित करने के बाद विधिवत तरीके से पूजा कर लें। इसके बाद इस पोटली को उठाकर तिजोरी या अलमारी या फिर अपनी पर्स में रख लें। ऐसा करने से घर में नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है और आर्थिक तंगी से आप मुक्त होते हैं।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.