Vastu Tips: जानिए किचन से वास्तु दोष दूर करने का नियम और उपाय, आज से ही करें शुरुआत

एक घर का किचन ही सब कुछ होता है। किचन में न केवल स्वादिष्ट व्यंजन बनते हैं बल्की किचन वास्तु शास्त्र से भी जुड़ा होता है।
 Vastu Tips of kitchen
Vastu Tips of kitchenwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क।14 March 2024। वास्तु के अनुसार किचन की अगर दिशा सही हो, तो वह घर में सुख समृद्धि लाने का काम करता है। वहीं, किचन में अगर वास्तु दोष है तो आपको अनेक प्रकार की परेशानियां झेलनी पड़ सकती है।

किचन से जुड़े कुछ जरूरी नियम

वास्तु के अनुसार कभी भूलकर भी किचन को बाथरूम के बगल या फिर सीढ़ी के नीचे नहीं बनाना चाहिए। वास्तु शास्त्र में इन दोनों को बड़ा दोष माना गया है, ऐसे घर में रहने वाले व्यक्ति का जीवन कभी सफल नहीं होता और वह कई प्रकार की परेशानियों से घिरा रहता है।

अगर आपको लग रहा है, कि आपके किचन में वास्तु दोष है और नकारात्मक ऊर्जा बनी हुई है तो सकारात्मक ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने के लिए किचन की पूर्व या उत्तर की दीवार पर स्वास्तिक का चिन्ह बनाना बहुत शुभ माना गया है।

घर में बरकत के लिए किचन में बनी पहली रोटी गौ माता की एवं सबसे बाद में एक रोटी कुत्ते के लिए निकालनी चाहिए। इससे आपके घर परिवार में सुख शांति बनी रहेगी।

वास्तु शास्त्र के अनुसार किचन में खाना बनाने के बाद गैस के चूल्हे को हमेशा साफ करके रखना चाहिए। चूंकि गैस के चूल्हे को वास्तु में धन और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है।

किचन में काले और नीले रंग के प्रयोग से बचना चाहिए। दीवारों का रंग हल्का नांरगी के साथ क्रीम कलर करवाना बहुत शुभ होता है, इसी लिए हमेशा इन्हीं रंगों का उपयोग करें।

वास्तु शास्त्र के अनुसार गैस का चूल्हा और पानी रखने का स्थान या फिर सिंक आस-पास नहीं बनाना चाहिए। ऐसा करने से घर में वास्तु दोष उत्पन्न होता है।

घर में किचन को हमेशा आग्नेय कोण यानि दक्षिण-पूर्व दिशा में बनाना चाहिए। यह दिशा काफी शुभ होती है और इस दिशा में किचन होने से घर में बरकत भी होती है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.