Vastu Tips : कर्ज में डूब कर हो गए हैं कंगाल तो करिए वास्तु शास्त्र से जुड़े यह उपाय

हम अक्सर किसी न किसी त्वचा के कारण किसी से कुछ पैसे उधार ले लेते हैं लेकिन उसे हम चुका नहीं पाते जिसके कारण हम उनके कर्जों के तले दबे रह जाते हैं।
Vastu Tips For debt
Vastu Tips For debtwww.raftaar.in

नई दिल्ली,रफ्तार डेस्क 24 December 2023 : हमारे जीवन में ऐसी कई मुश्किलें होती है जिनका हमें सामना करना पड़ता है उसमें से एक मुसीबत है कर्ज की अक्सर हम अपने किसी निजी काम अथवा घर को चलाने के लिए किसी से कर्ज ले तो लेते हैं लेकिन उसे वापस नहीं दे पाते ऐसे में एक कर्ज उतरा नहीं, दूसरा लेने की नौबत आ जाती है। ऐसे में मनुष्‍य और भी जाता उलझ जाता है और बढ़ते ऋण की इस स्थिति से छुटकारा नहीं मिल पाता। ऐसे में आप घर से जुड़े वास्तु पर भी ध्यान देकर या घर का वास्तु सुधार कर इस मुक्ति का उपाय पा सकते हैं।

इन उपायों का इस्तेमाल करके उतारे कर्जा

  • आप अगर कर्ज से काफी ज्यादा परेशान हो गए हैं तब अपने घर के ढलान ईशान दिशा की ओर करा दें, इससे कर्ज से मुक्ति मिल जाएगी।

  • वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में यदि किसी नल से पानी टपक रहा है तो इसे फौरन ठीक करा लें। इससे घर की सुख-समृद्धि की हानि होती है।कहा जाता है कि, टपकते नल से पानी के साथ घर की धन-संपत्ति भी बह जाती है।

  • वैसे तो आप कभी कर्ज न लें लेकिन अगर आपको किसी मुसीबत के वजह से कर्ज लेना पड़े तो उसकी पहली किस्त मंगलवार के दिन ही चुकाएं। इससे कर्ज का बोझ जल्दी उतर जाता है।

  • घर में कभी भी उत्तर या पूर्व दिशा में शीशा न लगाएं।इससे भयंकर वास्तु दोष होता है।अगर इस दिशा में शीशा लगा है तो तुरंत हटा दें। इससे धन की हानि होती है।

  • रोज शनिवार के दिन पीपल में तेल का दिया जलाना चाहिए ऐसा माना जाता है कि शनि महाराज आपसे नाराज है इसी कारण आप अपना कर्ज नहीं उतर पा रहे हैं।

  • घर में आप अपना पैसा किस दिशा में रखते हैं इसका भी एक अलग नियम बताया गया है। क्योंकि इससे आपको धन लाभ भी होता है और साथ ही आपका कर्ज भी बढ़ता है। आपको बता दें कि जब आप अपना पैसा उत्तर दिशा में रखते हैं तो आपको कर्ज से मुक्ति मिलती है और आर्थिक स्थिति में भी सुधार आता है।

  • हम अक्सर खाना खाने के बाद बर्तन जूठे ही छोड़ देते है। जो धन हानि या कर्जे का कारण बनता हैं। इसीलिए हमेशा खाना खाने के बाद बर्तन को धूल लेना चाहिए।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.