Vastu Tips: होली पर अपनाएं वास्तु के ये शानदार टिप्स, घर से दूर भागेगी नकारात्मकता

होली के इस त्योहार में वास्तु के ये कुछ उपाय आपके घर परिवार से जुड़े सारे दोष खत्म कर सकते हैं।
Vastu Tips of Holi
Vastu Tips of Holiwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क।23 March 2024। होली के त्योहार के दिन वास्तु शास्त्र के कुछ ऐसे नियम हैं जिसका पालन करने से आपकी हर समस्या का समाधान हो जाता हैं। तो आईए जानते हैं वास्तु के कुछ अनोखे और अनसुने उपाय।

होली के दिन जरूर करें यह उपाय

अगर आपका घर दक्षिण दिशा की ओर है, तो आपको गुलाबी, बैंगनी, नारंगी और लाल रंग से होली खेलनी चाहिए ऐसा करने से नकारात्मकता दूर होती है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार लाल रंग से होली खेलना काफी अच्छा माना जाता है इसीलिए अगर आप बाजार होली की कॉपी करने जा रहे हैं तो लाल रंग अवश्य लेकर आए।

होलिका दहन के अगले दिन सुबह होलिका की थोड़ी सी राख लाकर, एक लाल वस्त्र में स्फटिक श्रीयंत्र, चांदी के कुछ सिक्के और राख को बांधकर अपने घर की तिजोरी में रख दें। ऐसा करने से आपका व्यापार काफी तेजी से आगे बढ़ेगा।

होली के दहन के वक्त जिस जगह होली का दहन हो रहा हो, वहां पर एक अनार की लकड़ी पर उस आदमी का नाम लिखकर उसके ऊपर हरा गुलाल डालकर होलिका में डाल दें। इस उपाय को करने से आप पर लगा कर्ज जल्दी खत्म हो जाएगा।

होली पर सफेद रंग के कपड़े पहनकर होली खेलना अच्‍छा और सबसे शुभ माना जाता है। यह रंग चंद्रमा का प्रतिनिधित्‍व करता है और चंद्रमा को शीतलता का प्रतीक माना जाता है। इसीलिए होली के दिन सफेद कपड़े पहन कर ही होली खेले।

होलिका दहन के दिन सरसों लेकर आप अपने परिवार के सभी व्यक्ति के ऊपर पांच पांच बार घूमाकर उनकी नजर उतारे और उसको जलती हुई होलिका में फेंक दें। ऐसा करने से आपके परिवार में सुख शांति बनी रहती है और उनको किसी की नजर भी नहीं लगती।

वास्तु के अनुसार पचौली के तेल को होली के हरे रंग में मिलकर होली खेलने से आर्थिक लाभ मिलता है। होली के त्योहार से पहले आप अपने घर को साफ- सुथरा अवश्य रखें, जिससे न केवल घर से नकारात्मक ऊर्जा को दूर होती है। और सकारात्मक प्रवेश करती है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.