Vastu Tips: रात में ना करें यह काम वरना हो सकते हैं कंगाल, जानिए क्या कहता है वास्तु शास्त्र

वास्तु शास्त्र के हिसाब से हर एक काम करने का समय निर्धारित किया गया है वहीं अगर आप यह काम उस समय की विपरीत करते हैं तो उसका पूरा प्रभाव पड़ता है।
Don't do this work at night
Don't do this work at nightwww.raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क15 December 2023 घर में ऐसे कई सारे काम होते हैं। जिनको करने का एक समय निर्धारित होता है लेकिन अक्सर लोग कुछ कामों को गलत समय पर करते हैं। जिसके कारण हमारे घर में वास्तु दोष उत्पन्न होता है और हमारे जीवन में कठिनाइयां आने लगती है। जिसके कारण हमें जीवन में सफलता नहीं मिल पाती हैं। वहीं घर में शाम को का आगमन होता है। अगर आप वास्तु के हिसाब से सही समय पर काम नहीं करते तो लक्ष्मी माता भी रूठ जाती हैं जिसके कारण हमारे घर से सुख शांति छिन जाती है।

रात को भूलकर भी ना करें यह काम

शाम के समय घर में लक्ष्मी का वास होता है।अगर हम रात में साफ सफाई करते हैं तो घर में आने वाली लक्ष्मी रूठ जाती हैं। रात में कभी भी साफ सफाई नहीं करना चाहिए।वास्तु शास्त्र के अनुसार सुबह के समय झाड़ू लगाना श्रेष्ठ होता है।सूरज चढ़ने तक भी झाड़ू लगाना मान्य है। लेकिन सूरज ढलने के बाद घर में साफ सफाई करना शास्त्र के मुताबिक नहीं है। ऐसा तभी किया जाना चाहिए जब अत्यंत अत्यावश्यक हो। वहीं रात के समय घर में झाड़ू को प्रतिबंधित माना गया है ऐसा करने सेरात के समय में घर में घर में सुख शांति और सोच से जुड़ी दिक्कतें आना शुरू हो जाती है।यहां पर यह बात भी महत्वपूर्ण है कि रात्रि में सूर्य का प्रकाश नहीं रहता है। इससे अत्यंत छोटी वस्तुएं नजर नहीं आती हैं। जिसके कारण आपका घर ठीक से साफ भी नहीं हो होता है।

झाड़ू को रखने की सही दिशा

वास्तु शास्त्र के मुताबिक झाड़ू को ऐसे ही कहीं भी नहीं छोड़ना चाहिए। कुछ लोग झाड़ू को कहीं भी कोई भी दिशा में रख देते हैं। जो की काफी अशुभ माना जाता है। वहीं इसे खुले में नहीं रखना चाहिए, खड़ा करके रखना भी बुरा माना गया है।खुले में रखने से घर में कलह होता है। इसलिए इसे हमेशा छिपाकर रखना चाहिए।झाड़ू को आपको अपने घर के उत्तर-पश्चिम या पश्चिम कोने में झाडू रखना चाहिए। ऐसा करने से घर में सुख-शांति के साथ-साथ बरकत आती है। वहीं वास्तु के अनुसार झाडू को कभी भी उत्तर-पूर्व या दक्षिण-पूर्व दिशा या पूजा कक्ष में नहीं रखना चाहिए।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.