Vastu Tips : तुलसी के पत्ते तोड़ने से होंगे घर में क्लेश, जानिए तुलसी से जुड़े यह अनोखे राज

हमारे हिंदू धर्म में तुलसी का बहुत महत्व है तुलसी का पौधा घर में लगाने से सुख शांति रहती है हर कोई अपने घर आंगन में तुलसी का पेड़ लगता है।
Vastu Tips of Basil leaves
Vastu Tips of Basil leaveswww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डिस्क 28 दिसंबर 2023 : तुलसी का पौधा हिंदू धर्म में काफी शुभ माना जाता है हर कोई अपने घर आंगन में तुलसी का पौधा लगता है। कहते हैं कि तुलसी का पौधा घर आंगन में लगाने से सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। वहीं भगवान की पूजा करने के बाद बिना तुलसी का पत्ता चढ़ाए उनका भोग नहीं माना जाता इसलिए हर घर में पूजा में तुलसी का उपयोग किया जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार तुलसी के पत्तों को तोड़ने के विशेष नियम और परंपराएं और नियम बनाए गए है। तुलसी के पत्तों को तोड़ते हर समय नहीं तोड़ना चाहिए कुछ दिन ऐसे भी होते हैं अगर उस दिन आप तुलसी के पत्ते को तोड़ते हैं तो आप पर इसका गलत प्रभाव पड़ता है।

तुलसी के पत्तों को तोड़ने का नियम

तुलसी के पौधे को देवी के समान माना जाता है। इसलिए बिना स्नान किए पत्तियों को नहीं छूना चाहिए। हमेशा स्वच्छ होकर ही पत्तियों को छुएं। तुलसी की पत्ते तोड़ने से पहले देवी का ध्यान करके हाथ जोड़े और उनसे पत्ती तोड़ने की कामना करें। वही तुलसी के पत्ते को कभी भी नाखून के द्वारा नहीं तोड़ना चाहिए।इससे मां लक्ष्मी रुष्ट हो जाती है। तुलसी की पत्ती तोड़ते समय हमेशा एक-एक पत्ती ही तोड़नी चाहिए। कभी भी एक साथ या फिर पूरी डंठल न तोड़े।

इस दिन नहीं तोड़ना चाहिए तुलसी के पत्ते

  • तुलसी के पत्तों को कभी भी सूर्यास्त के बाद तोड़ना नहीं चाहिए और तुलसी के पत्तों को तोड़ते समय हाथ जोड़कर प्रणाम करना चाहिए। सूर्यास्त के बाद का समय हिंदू धर्म में आध्यात्मिकता और पूजा के लिए विशेष माना जाता है, और तुलसी के पत्तों के सम्मान के लिए यह समय बहुत महत्वपूर्ण होता है।

  • सूर्य ग्रह और चंद्र ग्रह के अलावा रविवार को भी तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ना चाहिए। इस दिन उनको चुने या जल अर्पित करने से बचना चाहिए क्योंकि ऐसा करना काफी अशुभ माना जाता है।

  • एकादशी के दिन तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ना चाहिए।इस दिन तुलसी माता की पूजा की जाती है। इसीलिए आप एक दिन पहले ही तुलसी का पत्ते तोड़ कर रख ले तुलसी को बासी नहीं माना जाता है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.