Vastu Tips of Asafetida
Vastu Tips of Asafetidawww.raftaar.in

Vastu Tips: हींग करेगी आपको मालामाल, जानिए क्या कहता है वास्तु शास्त्र

अगर आप भी कर्ज से परेशान हैं तो आपके घर में रखी हुई हींग काफी कारगर साबित हो सकती है। वास्तु शास्त्र में हींग से जुड़े कई बातें बताई गई हैं।

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क 20 January 2024: वास्तु शास्त्र हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है। कहते हैं कि वास्तु शास्त्र के हिसाब से की गई चीज काफी लाभदायक होती है। क्या आप जानते हैं कि आपके घर में रखी हुई हींग आपके लिए कितनी फायदेमंद हो सकती है। हींग का सही से उपयोग करके आप कई तरह की परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं।

हींग के फायदे

सब्जियां और दाल में तड़का के अलावा कई चीजों के लिए हींग का उपयोग किया जाता है। कहते हैं कि अगर आपका कोई काम बहुत दिनों से अटका हुआ है। इसके लिए हींग का उपाय बहुत ही कारगर होता है। आप एक चुटकी हींग लेकर अपने सिर से उतारकर उत्तर दिशा की तरफ फेंक दें। माना जाता है कि ऐसा करने से काम में आ रही बाधाएं दूर होती हैं।

कर्ज से छुटकारा पाने के लिए

हम कुछ कारणों के वजह से कर्ज के दलदली में फंस जाते हैं। लेकिन उससे निकलना तो चाहते हैं। लेकिन ये काफी मुस्किल होता है। इसके लिए एक गांठ हींग को पानी में डालकर अच्छे से मिला लें और फिर उस पानी से स्नान कर लें। इसके अलावा थोड़ी सी हींग को लाल रंग के कपडे में बांधकर दान कर दें इससे आप को कर्ज से जल्द मुक्ति मिल जाएगी।

घर में लगी हुई नजर और नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने के लिए

घर में अक्सर नकारात्मक ऊर्जा होने के कारण घर का माहौल काफी खराब रहता है। घर में लड़ाई झगड़ा होते ही रहते हैं। एसे में घर से नकारात्मक ऊर्जा को खत्म करने के लिए पांच ग्राम हींग, पांच ग्राम कपूर और पांच ग्राम काली मिर्च को मिलाकर पाउडर बना लें। इसके बाद पाउडर को राई के बराबर गोलियां बनाकर दो हिस्सों में बांटकर रख दें। 2 ,3 दिनों तक एक हिस्से को सुबह और एक हिस्से को शाम को जलाएं। ऐसा करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है और घर का माहौल पहले से अच्छा हो जाता है।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

डिसक्लेमर

इस लेख में प्रस्तुत किया गया अंश किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की पूरी सटीकता या विश्वसनीयता की पुष्टि नहीं करता। यह जानकारियां विभिन्न स्रोतों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/प्रामाणिकताओं/धार्मिक प्रतिष्ठानों/धर्मग्रंथों से संग्रहित की गई हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य सिर्फ सूचना प्रस्तुत करना है, और उपयोगकर्ता को इसे सूचना के रूप में ही समझना चाहिए। इसके अतिरिक्त, इसका कोई भी उपयोग करने की जिम्मेदारी सिर्फ उपयोगकर्ता की होगी।

Related Stories

No stories found.