Pankaj Udhas Death: पंकज उधास के वो गाने जिन्होंने छोड़ी लोगों के दिलों पर छाप

Abhay Tripathi

तेरी यादें

1983 में आया ये गाना हर किसी को आज भी याद होगा। यह गाना एल्बम 'मेहफिल' का हिस्सा था और इसे पंकज उदास ने खुद संगीतबद्ध किया था।

Pankaj Udhas | Social Media

चिट्ठी आई है

1986: यह गाना फिल्म 'नाम' का था और इस गाने में एक प्रेमी अपनी प्रेमिका से पत्र प्राप्त करता है। और उस पत्र में लिखें जज्बातों को गाने में बया करता है।

Pankaj Udhas | Social Media

मेरे ख्यालों में जो आए

यह गाना एल्बम 'मुकर्रार' का था और यह 1981 में आया था। इसे पंकज उदास ने खुद संगीतबद्ध किया था। इस गाने में एक प्रेमी अपनी प्रेमिका को सोचकर अपने प्यार का इजहार करता है।

Pankaj Udhas | Social Media

दिल जब से टूटा है

1986 में आया यह गाना फिल्म 'सैलामी' का था और इस गाने एक टूटे प्रेमी के टूटे दिल के दर्द को बया करता हैं। इसे लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल ने संगीतबद्ध किया था।

Pankaj Udhas | Social Media

जियें तो जियें कैसे

1991 की फिल्म 'साजन' में इस गाने को हर कोई आज भी गुनगुनाता है, जिसमें पंकज उदास स्वंय दिखाई देते हैं और इसे गाते हैं।

Pankaj Udhas | Social Media

वो लड़की जब घर से निकली

1986 में आया यह गाना फिल्म 'सैलामी' का था और इसे लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल ने संगीतबद्ध किया था। यह एक प्रेमी के बारे में है जो अपनी प्रेमिका को घर से निकलते हुए देखता है। उस दौर में लोग इस गाने को खूब पसंद करते थे।

Pankaj Udhas | Social Media

चांदी जैसा रंग है तेरा

चाँदी जैसा रंग है तेरा सोने जैसे बाल यह फिल्म एक ही मकसद का गाना है। यह गाना तब से लेकर आज तक लोगों के जुबान पर है।

Pankaj Udhas | Social Media

न कजरे की धार

फिल्म मोहरा का ये गाना तो हर किसी को याद ही होगा। इस गाने में प्रेमी अपने प्रेमिका की सुंदरता का बखान करता है। ये गाना लोगों के दिनों में अभी भी राज करता है।

Pankaj Udhas | Social Media