Mission Suryayan: 2 सितम्बर को Aditya-L1 लांच कर ISRO भरेगा सूर्य तक उड़ान - चाँद के बाद अब है सूर्य की बारी

Raftaar Desk RPI

Chandrayan 3 के सफलता के बाद ISRO अपना पहला सोलर मिशन Aditya-L1 2 सितम्बर को लांच करने जा रहा है

Aditya-L1 | ISRO

Aditya-L1 को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से लांच किया जाएगा

Aditya-L1 | ISRO

L1 में सात पेलोड्स हैं, इस मिशन से संबंधित सबसे महत्वपूर्ण पेलोड विजिबल लाइन एमिसन कोरोनाग्राफ (VELC) है

Aditya-L1 | ISRO

सूर्ययान में लगा VELC सूरज की HD फोटो लेगा. इस स्पेसक्राफ्ट को PSLV रॉकेट से लॉन्च किया जाएगा, L1 को सूरज तक पहुंचने में चार महीने लगेंगे

Aditya-L1 | ISRO

आदित्य-एल1 स्पेसक्राफ्ट को धरती और सूरज के बीच एल1 ऑर्बिट में रखा जाएगा. यानी सूरज और धरती के सिस्टम के बीच मौजूद पहला लैरेंजियन प्वाइंट है, लैरेंजियन प्वाइंट को अंतरिक्ष का पार्किंग स्पेस कहते है

Aditya-L1 | Social Media

एल1 ऑर्बिट लैरेंजियन प्वाइंट धरती से करीब 15 लाख km दूर स्थित है

Aditya-L1 | ISRO

सूरज पर अब तक अमेरिका, जर्मनी, यूरोपियन स्पेस एजेंसी ने कुल 22 मिशन भेजे हैं,जिसमें से सबसे ज्यादा मिशन NASA के है

Aditya-L1 | Social Media